मिशन:

“तम्बाूकू ग्रोयरों और भारतीय तम्बाोकू उद्योग के समग्र विकास के लिए प्रयास करना।“

विजन:

”संसद के विवेचित संकल्पि, दोलायमान कृषि व्यमवस्था् के निर्विघ्ने कार्य, तम्बा कू ग्रोयरों के लिए स्प2ष्ट7 एवं लाभकारी मूल्यि और निर्यात प्रोत्सामहन के लिए तम्बाेकू बोर्ड अपनी भूमिका निभाने के लिए वचनबद्ध है।“

तंबाकू बोर्ड के बारे में ज्यादा »

तम्बा कू, भारत में उगाये जाने वाले एक महत्वरपूर्ण वाणिज्यिक फसल है। यह 750 मिलियन कि.ग्रा. के वार्षिक उत्पा दन के साथ विश्वा में तीसरी स्था न पर रहा है। उगाये जाने वाले विभिन्नर प्रकारों में से फ्लू-क्यूकरड तम्बािकू, देशी तम्बारकू, बर्ली, बीडी, रस्टिका और चर्वण तम्बा कू आदि., महत्व्पूर्ण माना जाता है। भारत तम्बारकू उत्पािदन में तीसरा स्थाेन में और निर्यात में ब्रेजिल और चीन के बाद रहा है।
तम्बामकू और तम्बा कू उत्पांदों के लिए वर्ष 2019-20 में उत्पााद शुल्क के रूप में रू.22,737 करोड और विदेशी मुद्रा के रूप में लगभग रू.5870 करोड रूपये राष्ट्री य राजकोष को योगदान दिया है।

एफ सी वी तंबाकू की नीलामी की कीमतों
निर्यात प्रदर्शन
निविदाएं ज्यादा »
तम्बाकू किस्मों




© 2014. सर्वाधिकार सुरक्षित।